नौजवानों की भरोसेमंद ‘करियर गाइड’: सुरभि देवरा

Surabhi Dewra, Career Guide, 25 Most Powerful Women In India,

युवाओं में अपने करियर को लेकर बहुत कन्फ्यूज़न होता है . जानकारी के अभाव में वे ऐसे क्षेत्र का चुनाव कर लेते हैं जिसमें उनकी रुचि कम होती है या एकदम ही रुचि नहीं होती. जब तक वे यह समझ पाते हैं कि वे एक ऐसे क्षेत्र में आ गये हैं जिसमें उनके मतलब का कुछ नहीं…बहुत देर हो चुकी होती है. सुरभि देवरा ने युवाओं की इस परेशानी को ना सिर्फ समझा बल्कि इसको दूर करने का ज़िम्मा भी उठाया. आज लगभग एक दशक से सुरभि अपने पोर्टल करियर गाइड डॉट कॉम के ज़रिये करियर काउंसलिंग करके लाखों युवाओं का भविष्य संवार रही है हैं, उन्हें सही राह दिखा रही हैं.

सुरभि देवरा ने बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस से बीई किया है. शिक्षा में आगे बढ़ने से पहले सुरभि ने इलेक्ट्रॉनिक डिजाइन ऑटोमेशन (ईडीए) और सीएडी टूल्स, चिप डिजाइन, बैटरी लाइफ ऑप्टिमाइज़ेशन और लो पावर आईपी के क्षेत्र में काम किया है. सुरभि का शिक्षा की ओर झुकाव पहले से था. ये उनका पैशन था. वे एनजीओ के माध्यम से छात्रों को पढ़ाती थीं. इस दौरान उन्होंने महसूस किया कि विभिन्न करियर क्षेत्रों के बारे में विश्वसनीय जानकारी के अभाव में छात्रों को अपना करियर तय करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. सुरभि के तय किया कि वे इस क्षेत्र काम करेंगी और इस तरह करियर गाइड का आईडिया सुरभि के दिमाग में आया.

अपनी 9 से 5 की नौकरी छोड़कर अपना खुद का बिज़नेस शुरू करना सुरभि के लिए आसान नहीं था. उनकी राह में अनेकों परेशानियां आयीं लेकिन सुरभि ने हार नहीं मानी. अपने बिज़नेस के शुरूआती दिनों में सुरभि फण्ड के लिए एक चैनल के रियलिटी शो में गयीं थीं. शो का कांसेप्ट था कि प्रतियोगियों को ऑन द स्पॉट इन्वेस्टर्स के सामने अपने स्टार्टअप का आईडिया शेयर करना था. जिसका आईडिया इन्वेस्टर्स को पसंद आता, वे उसके स्टार्टअप को फण्ड करते. सुरभि ने जब देश के 20 मिलियन बच्चों को करियर गाइडेंस देने का अपना आईडिया इन्वेस्टर्स को बताया, तो नामी व्यवसायी विशाल गोंडल ने कहा कि उनका आईडिया सफल नहीं होगा. इस कमेंट को सुनने के बाद भी सुरभि टूटी नहीं, उनको खुद पर विश्वास था. इस शो के 20 प्रतियोगियों में वे इकलौती महिला थीं, जोकि अपने आप में बड़ी उपलब्धि थी. सुरभि के आत्मविश्वास ने इन्वेस्टर्स को सोचने पर मजबूर कर दिया और शो के बाद सुरभि के आईडिया को सफल ना बताने वाले विशाल गोंडल और रॉनी स्क्रूवाला ने ना सिर्फ सुरभि के वेंचर को फण्ड किया बल्कि उनके मेंटर भी बने. यहीं से सुरभि के सपनों को पंख मिले और उन्होंने अपने लक्ष्य की ओर उड़ान भरी.

आज सुरभि देशभर के युवाओं को मार्गदर्शन दे रही हैं. इनके पोर्टल के द्वारा देशभर के किसी भी कोने में बैठे युवा को अपनी करियर सम्बन्धी समस्याओं का समाधान मिल रहा है. इस पोर्टल की सफलता का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इसके शुरू होने के दो महीनों के भीतर ही 50,000 यूजर्स बन गये थे.सुरभि देवरा का वेंचर करियर गाइड, करियर काउंसलिंग के क्षेत्र में जाना-माना नाम है. इसके लॉन्च होने के 1 साल बाद ही इस पोर्टल को साल 2012 में ‘बेस्ट करियर गाइडेंस प्लेटफार्म’ का अवार्ड मिला.

सुरभि देवरा को भारत में शिक्षा सुधार और करियर काउंसलिंग के क्षेत्र में बेहतरीन काम करने के लिए कई सम्मान मिले हैं.उनको एक्शन फॉर इंडिया द्वारा टॉप 100 एंटरप्रिनुएर-2015 में शामिल किया गया था. बेस्ट करियर प्लेटफार्म के लिए पूर्व एचआरडी मिनिस्टर डॉ. पल्लम राजू द्वारा नेशनल एजुकेशन अवार्ड-2013 से सम्मानित किया गया था. करियर काउंसलिंग में सर्वश्रेष्ठ पहल के लिए 2012 में एसोचैम द्वारा भी पुरस्कृत किया जा चुका है.

शक्तिशाली नारी शक्ति के इस सर्वे में फेम इंडिया मैगजीन – एशिया पोस्ट ने नॉमिनेशन में आये 300 नामों को विभिन्न मानदंडों पर कसा , जिसमें सर्वे में सामाजिक स्थिति, प्रतिष्ठा, देश की आर्थिक व राजनीतिक व्यवस्था पर प्रभाव, छवि, उद्देश्य और प्रयास जैसे दस मानदंडों को आधार बना कर किये गये स्टेकहोल्ड सर्वे में करियर गाइड डॉट कॉम की फाउंडर सुरभि देवरा इक्कीसवें स्थान पर हैं.