दमदार शख्सियत के असरदार राजनेता हैं प्रदीप सिंह जडेजा

* जनमानस से सीधा संपर्क रखने वाले कद्दावर व्यक्ति
* राज्य की राजनीति में असरदार राजनेता
* विभिन्न लोकोपकारी कार्यो में में रहते हैं सदैव तत्पर

प्रदीपसिंह जडेजा गुजरात की राजनीति का एक जाना-पहचाना चेहरा हैं. एक कुशल नीतिकार और प्रशासक की छवि के लिए मशहूर जडेजा गृह, ऊर्जा, विधायी व संसदीय मामलों, कानून एवं न्याय मंत्री हैं. साथ ही उनके पास पुलिस आवास, सीमा सुरक्षा, नागरिक सुरक्षा, ग्राम रक्षक दल, जेल, निषेध आबकारी, अनिवासी गुजरात संभाग आदि विभागों का स्वतंत्र प्रभार भी है. इससे पहले भी वे गुजरात के गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं. उन्हें देश के गृहमंत्री अमित शाह के बेहद करीबी माना जाता है.

11 जून 1962 को अहमदाबाद में जन्मे प्रदीपसिंह जडेजा ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत अहमदाबाद नगर निगम में पार्षद के रूप में की थी. रसायन विज्ञान में स्नातक जडेजा अपना केमिकल का कारोबार भी संभाल रहे थे. इसी दौरान ये भारतीय जनता पार्टी से जुड़े. ये संगठन में कई अहम पदों पर भी रहे. साल 2002 में ये पहली बार असरवा विधानसभा सीट से विधायक चुने गये. इसके बाद 2007 में भी ये इसी सीट से जीते. साल 2012 में जब ये सीट आरक्षित हो गयी तब इन्होंने वटवा सीट से अपनी किस्मत आजमायी. लेकिन इससे इनकी जीत पर कोई असर नहीं पड़ा बल्कि उनके जीत का अंतर बढ़ता ही रहा. साल 2017 में जडेजा ने कांग्रेस प्रत्याशी
बिपिन पटेल को हराकर एक बार फिर अपनी जीत का परचम लहराया. ये नरेन्द्र मोदी और आनंदी बेन पटेल की सरकारों में भी मंत्री रह चुके हैं. वर्ष 2010 में इन्होंने गुजरात विधानसभा में पार्टी के मुख्य सचेतक की भूमिका भी निभायी थी.

जनकल्याण के मुद्दों की तरफ जडेजा का ख़ास झुकाव है. जडेजा का मानना है कि जबतक जनता खुश नहीं होगी, प्रदेश तरक्की नहीं करेगा इसीलिये ये अपने प्रदेश और क्षेत्र की जनता के लिए पूर्ण रूप से समर्पित हैं. ये लोगों से सीधा संपर्क करके उनकी समस्याओं को सुनते हैं और उनका निवारण करने की पूरी कोशिश करते हैं. चाहे युवाओं की समस्याओं के निवारण की बात हो या शैक्षिक पुनर्जागरण की, जडेजा जिस भी पद पर रहे, महत्वपूर्ण भूमिका अदा की. एशिया के सबसे बड़े सिविल अस्तपाल के रोगियों की सेवा के लिये जडेजा हमेशा तत्पर रहते हैं. रोगियों की शिकायतों पर वो खुद नज़र रखते हैं और इस काम के लिए उन्होंने एक टीम का भी गठन किया है.

अपने दयालु और सरल स्वभाव के लिए जाने जाने वाले जडेजा ने गुजरात में आये भूकंप और सीरियल ब्लास्ट्स में घायल हुए लोगों की दिन रात सेवा की है. आने वाले सालों में भी वे गुजरात की विकास यात्रा में अपना सहयोग देना चाहते हैं. जडेजा की कोशिश एक ऐसा इकोसिस्टम बनाने की है जिससे लोगों और सरकार के बीच की खाई पटे और लोगों के कल्याण के वांछित परिणाम प्राप्त हो सकें. प्रदीपसिंह जडेजा चाहते हैं कि भारत के युवा आगे बढ़ें और लोगों की सेवा में खुद को समर्पित करें. दयालु बनें, कड़ी मेहनत करें और सभी के साथ हाथ से हाथ मिलाकर चलें. यह भावना भारत के भविष्य को पंख देगी, और हम सभी को हमारे सपनों के भारत की तरफ ले जायेगी.

फेम इंडिया मैगजीन- एशिया पोस्ट के “सर्वश्रेष्ठ मंत्री 2019 सर्वे” में गुजरात के लोकप्रिय मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा‘असरदार’ कैटेगरी में सर्वश्रेष्ठ मंत्री के तौर पर चुने गये हैं.