100 प्रभावशाली व्यक्ति की सूची में शामिल हैं टाटा पावर के चीफ एचआर ऑफिसर जयंत कुमार

इन्हे देश में एच आर पॉलिसी बनाने और बेहतर तरीके से उसे लागू करने का महारथी माना जाता है, हम बात कर रहे है डॉ. जयंत कुमार की, जो प्रतिष्ठित टाटा समूह की कंपनी टाटा पॉवर के चीफ ह्यूमन रिसोर्स ऑफिसर हैं। टाटा को देश की सबसे बेहतरीन इम्प्लाई फ्रेंडली कंपनी में एक माना जाता है और इसमें सबसे महत्वपूर्ण भूमिका डॉ जयंत कुमार निभा रहे है ,इनके जिम्मे कंपनी के लिये काबिल कर्मचारियों की पहचान, नियुक्ति के साथ साथ कंपनी में उनके लिये सुविधाजनक माहौल और उनके अधिकार की सुरक्षा की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी हैं। एच आर में वर्ष 1994 से अब तक इनका एक लंबा अनुभव रहा है। इन्होंने अब तक कई नामी कंपनियों में महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभायीं।
कुशल प्रबंधक और दक्ष रणनीतिकार जयंत मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं। इन्होने रांची के जेवियर स्कूल ऑफ सोशल साइंसेज से एचआर में एमबीए (पीजीडीबीएम) की पढ़ाई की। 2008 में इन्होने वित्तीय संस्थानों में योग्य कर्मचारियों के मैनेजमेंट पर पीएचडी भी की है ।

उच्च शिक्षित जयंत कुमार 1994 ने एन टी पी सी से अपने कैरियर की शुरुआत की, इन्होने 2005 तक एच आर मैनेजर के रूप में वहॉं काम किया। इसके बाद वे अगले दो वर्ष एनडीपीएल और एक वर्ष रिलायंस कम्युनिकेशन में भी रहे। 2007 में उन्होंने टाटा टेलीसर्विसेस ज्वॉइन की। यहॉ से वाइस प्रेसिडेंट एच आर बनाये गये, वर्ष 2012 ये मैरिको लिमिटेड से जुड़ गये जहां इन्हे एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट की जिम्मेदारी दी गई, 2013 में टाटा पावर से प्रस्ताव मिला और टाटा पावर में अप्रैल 2013 से सितंबर 2016 तक एच आर में इनके बेहतर कार्य को देखते हुये कंपनी का इन्हे मुख्य मानव संसाधन अधिकारी (सी एच आर ओ) बना दिया गया। इन्हें योग्य कर्मचारियों की पहचान और नियुक्ति के मामलों का जादूगर कहा जाता है। विभिन्न मौकों पर वह अपनी काबिलियत साबित भी कर चुके हैं। अपनी राष्ट्रिय छवि,कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार,राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होने बिहार का मान देश दुनिया में बढाया है ,उपरोक्त पॉंच मानदंड पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हे प्रमुख स्थान पर पाया गया है, टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ.