फेम इंडिया – एशिया पोस्ट सर्वे के 100 प्रभावशाली की सूची में प्रमुख स्थान पर हैं मणिपुर राज्य के मुख्य सचिव रजनी रंजन रश्मि

 

वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रजनी रंजन रश्मि को इसी वर्ष जुलाई में मणिपुर राज्य के मुख्य सचिव के पद पर नियुक्त किया गया है। वे इससे पहले राज्य के अतिरिक्त मुख्य सचिव का पद भी संभाल चुके हैं। रश्मि उत्तर-पूर्वी राज्य मणिपुर में कई महत्वपूर्ण प्रशासनिक जिम्मेदारियां निभा चुके हैं। उन्हें उनके बेहतरीन सेवाकाल के दौरान 2008 में उन्हें उत्कृष्ट लोकप्रशासन के लिए प्रधानमंत्री सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है।

मूल रूप से बिहार के रहने वाले रजनी रंजन का जन्म 23 सितंबर 1957 को हुआ। उन्होंने पटना विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में बीए की पढ़ाई की। बाद में उन्होंने ब्रुसेल्स के ओपन युनिवर्सिटी से एमबीए किया। उन्हें 5 सितंबर 1983 को 26 वर्ष की आयु में प्रशासनिक सेवा में शामिल किया गया। वे मणिपुर कैडर का हिस्सा हैं।

1983 बैच के आईएएस अधिकारी रजनी रंजन रश्मि को वन एवं पर्यावरण का विशेषज्ञ भी माना जाता है। केंद्रीय पर्यावरण, वन एंव जलवायु परिवर्तन मंत्रालय में वे विशेष सचिव भी रह चुके हैं। वर्ष 2008 से 2013 तक वे लगातार इस पद पर रहे हैं। रश्मि की गिनती उन गिने चुने अधिकारियों में होती है जो अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। पर्यावरण मंत्रालय में रहते हुए उन्होंने पर्यावरण सहयोग, जलवायु परिवर्तन, ओजोन और दूसरी अंतर्राष्ट्रीय संधियों में भारत की ओर से वार्ताकार की भूमिका भी निभायी।

इससे पहले रजनी रंजन रश्मि को 1998 से 2001 तक वाणिज्य मंत्रालया के यूरोप विभाग के निदेशक नियुक्त किया गया था। इसके बाद उन्हें 2004 में ब्रुसेल्स में यूरोपीय संघ के साथ कारोबार के भारत के मिशन के सहालकार बनाया गया। 2014 में रजनी को उद्योग एंव वाणिज्य मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव के पद पर नियुक्त किया गया था। उद्योग मंत्रालय में यह उनका तीसरा कार्यकाल था। अपनी राष्ट्रीय छवि, कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार, राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होंने बिहार का मान देश-दुनिया में बढ़ाया है। उपरोक्त पांच मानदंडों पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में (बिहार से आने वाले) देश के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हें प्रमुख स्थान पर पाया गया है। टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।