100 प्रभावशाली व्यक्ति की सूची में शामिल हैं मनोरंजन जगत में ताजगी का झोंका लाने वाले पवन कुमार मारुत

भारतीय टेलीविजन पर रश्मि शर्मा टेलेफिल्म्स का नाम किसी परिचय क मोहताज नहीं है। इस प्रोडक्शन हाउस के दर्जनों टीवी सीरियल देश के तकरीबन सभी बड़े-छोटे चैनल पर लोकप्रियता की नयी ऊंचाइयां छू रहे हैं। इस सफलता के पीछे अहम रोल है मशहूर निर्माता निर्देशक पवन कुमार मारुत का। इसके अलावा वे कई फिल्मों का निर्देशन कर अपनी प्रतिभा का लोहा भी मनवा चुके हैं।
बिहार के छोटे से शहर चितरंजन में जन्मे व पले-बढ़े पवन कुमार ने टीवी सीरियलों की दुनिया में कदम रखा सन् 2003 में ज़ी टीवी पर पिया का घर से। सीरियल इतना हिट हुआ कि चैनल ने इसे करीब ढाई साल तक जारी रखा। फिर तो पवन कुमार मारुत ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।  2008 में स्टार प्लस पर ‘राजा की आयेगी बारात’ से उन्होंने रश्मि शर्मा के साथ प्रोडक्शन शुरु किया। भारतीय चैनलों पर उनके एक के बाद एक सीरियलों ने दर्शकों के दिलों पर बरसों तक राज किया। आज भी उनके दो सीरियल ससुराल सिमर का और साथ निभाना साथिया 1800 से भी अधिक एपिसोड के साथ टीवी जगत के सबसे ज्यादा चलने वाले सीरियलों में शुमार हैं। इसके अलावा शक्ति- अस्तित्व के अहसास की और संतोषी माता आदि भी लोकप्रियता की बुलंदियों पर रहे हैं।
2016 में पवन कुमार मारुत की फिल्म पिंक ने रुपहले पर्दे पर ऐसा धमाल मचाया कि पूरी इंडस्ट्री दंग रह गयी। सुपर स्टार अमिताभ बच्चन और कुछ नवोदित चेहरों को साथ लेकर बनी इस फिल्म ने महज 10 दिनों में 50 करोड़ का कारोबार कर बाजार विशेषज्ञों को भी दांतों तले उंगलियां दबाने पर मजबूर कर दिया। फिल्म ने देश-विदेश में कई अवॉर्ड जीते। यहां तक कि संयुक्त राष्ट्र में इसे स्पेशल स्क्रीनिंग के लिये भी बुलाया गया।
अपनी राष्ट्रीय छवि, कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार, राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होंने बिहार का मान देश दुनिया में बढाया है। उपरोक्त पॉंच मानदंडों पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में देश के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हें प्रमुख स्थान पर पाया गया है। टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ।