टीवी पत्रकारिता के लिये मील के पत्थर हैं अर्णब गोस्वामी (फेम इंडिया-एशिया पोस्ट मीडिया सर्वे 2018)

अर्णब गोस्वामी एक ऐसा नाम है जिसे टीवी पत्रकारिता में ट्रेंड सेटर माना जाता है। जब भी न्यूज चैनलों पर बहस या वाद-विवाद का जिक्र होता है, अर्णब गोस्वामी और उनके न्यूजअॅवर की चर्चा अवश्य होती है। उन्होंने अपने जोरदार रिसर्च के दम पर बेबाक अंदाज में हर आम से लेकर खास तक की बखिया उधेड़ी है और इसी वजह से हर दर्शक के दिल के करीब हैं। चाहे ‘फ्रैंकली स्पीकिंग विद अर्णब’ हो या ‘लाइव डिबेट’, कम समय में ही उन्होंने एक ऐसी लकीर खींच दी जिससे बड़ी लकीर खींचना किसी के लिये संभव न हुआ। आज कोई भी टीवी डिबेट इसी मानक पर परखा जाता है कि वह अर्णब के प्रोग्राम से बेहतर है या कमतर। इन दिनों वे अपने नये वेंचर ‘रिपब्लिक टीवी’ के कारण सुर्खियों में हैं।

गुवाहाटी में जन्मे अर्णब ने अपनी शुरुआती पढ़ाई पिता के साथ उनकी पोस्टिंग्स पर रह कर देश के विभिन्न हिस्सों में की है। उन्होंने 10वीं की बोर्ड परीक्षा दिल्ली कैंट के माउंट सेंट मैरीज स्कूल से दी और 12वीं की पढ़ाई केन्द्रीय विद्यालय, जबलपुर कैंट से पूरी की। वे हिन्दू कॉलेज, दिल्ली से सोशियोलॉजी में ग्रैजुएट हैं। मास्टर्स डिग्री के लिये वे ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय गये जहां सेंट एंटॉनी कॉलेज से 1994 में डिग्री पूरी की।

वैसे तो अर्णब फौजी ऑफिसर के बेटे हैं, लेकिन उनके दादा रजनीकांत गोस्वामी स्वतंत्रता सेनानी, कांग्रेसी राजनेता और असम के मशहूर वकील थे। अर्णब के नाना गौरीशंकर भट्टाचार्य भी असम के प्रमुख कम्युनिस्ट नेता और साहित्यकार थे और कई वर्षों तक लीडर ऑफ ऑपोजीशन भी रह चुके थे।

अर्णब ने अपने कॅरीयर की शुरुआत द टेलीग्राफ अखबार से की, लेकिन कुछ ही महीनों बाद 1995 में उन्होंने एनडीटीवी ज्वाइन की जहां डेली न्यूज प्रोग्राम ‘न्यूज नाइट’ की एंकरिंग से चर्चा में आये। बाद में वे चैनल की कोर टीम का हिस्सा बन गये और कई मौलिक कार्यक्रम बनाये। उन्होंने न्यूज़ अॅवर प्रोग्राम की एंकरिंग की जो सबसे लंबे समय तक चलने वाला कार्यक्रम था। इतना बड़ा समाचार विश्लेषण कार्यक्रम किसी भी दूसरे चैनल पर नहीं दिखाया गया था।

2004 में उन्हें न्यूज नाइट प्रोग्राम के लिये एशिया के बेस्ट न्यूज एंकर का अवॉर्ड भी मिला था। एनडीटीवी में करीब 10 साल बिताने के बाद उन्होंने टाइम्स ग्रुप का न्यूज चैनल टाइम्स नाउ लांच किया। हालांकि चैनल के आक्रामक तेवर के पीछे उनका ही नेतृत्व काम कर रहा था, लेकिन उन्हें अलग पहचान मिली न्यूज अॅवर प्रोग्राम से। इस प्रोग्राम में देश-विदेश की कई मशहूर हस्तियों ने शिरकत की है।

अर्णब की पहचान किसी भी विषय पर गहरी पकड़ रखने वाले तेज-तर्रार पत्रकार और बेहद मेहनती टीम लीडर की है। 11 जुलाई 2006 को हुए मुंबई ट्रेन बम धमाकों के समय उन्होंने लगातार 26 घंटे की एंकरिंग की थी, जिसमें उन्होंने 200 से भी अधिक नेताओं के इंटरव्यू किये थे। 26/11 के मुंबई आतंकी हमले के समय उन्होंने लगातार 65 घन्टे तक एंकरिंग कर एक अलग ही पहचान बनायी। उनके प्रोग्राम फ्रैंकली स्पीकिंग विद अर्णब गोस्वामी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, बेनजीर भुट्टो, ब्रिटिश प्रधानमंत्री गॉर्डन ब्राउन, अफगान राष्ट्रपति हामिद करजई, दलाई लामा जैसी कई मशहूर हस्तियां शिरकत कर चुकी हैं।

देश के सबसे लोकप्रिय पत्रकारों में से एक अर्णब गोस्वामी फेम-इंडिया-एशिया पोस्ट सर्वे 2018 में भारतीय मीडिया के प्रमुख सरताज के तौर पर पाये गये हैं।