मजबूत इरादे के बेजोड. युवा राजनेता है दुष्यंत चौटाला

“लोकराज लोकलाज से चलता है। राजनीति में लोक और लाज सर्वोपरि है तथा राज पूरी तरह सेवाभाव से होना चाहिये”, ये मानना है हरियाणा की हिसार लोकसभा सीट से इंडियन नेशनल लोकदल के सांसद दुष्यंत चौटाला का. 3 अप्रैल 1988 को हिसार में जन्मे दुष्यंत चौटाला का नाम भारतीय संसद के इतिहास में सबसे कम उम्र का सांसद बनने के चलते लिम्का बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड्स में दर्ज है. वे अपने परिवार की चौथी पीढ़ी के नेता हैं। दुष्यंत साल 2013 सक्रिय राजनीति में उतरे और धीरे-धीरे हरियाणा के यूथ आइकॉन बन गये.
कैलिफ़ोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी से बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन में बीएससी की डिग्री लेने वाले दुष्यंत चौटाला की संसद में पहचान युवा ऊर्जावान नेता के रूप में है. सामाजिक कार्यों में दुष्यंत चौटाला की विशेष रुचि है।इनके नेतृत्व में आईएनएसओ ने रोहतक में सबसे ज्यादा अंग दान के लिए गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया. वे शिक्षा और खेलों के प्रचार-प्रसार और हरियाणा की संस्कृति तथा विरासत के संरक्षण और संवर्धन के लिए भी कार्यरत हैं. दुष्यंत चौटाला पहले भारतीय हैं जिन्हें एरिजोना (यूएसए) की असेंबली में उच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया गया है.