फेम इंडिया – एशिया पोस्ट सर्वे के 100 प्रभावशाली की सूची में प्रमुख स्थान पर हैं वेदांत रिसोर्सेज कारपोरेशन के फाउंडर अनिल अग्रवाल

बड़े इरादों के कामयाब उद्योगपति-  वेदांत रिसोर्सेज कारपोरेशन के फाउंडर अनिल अग्रवाल विश्व स्तरीय सफलता व लाखों करोड़ की मिल्कियत के साथ आज विश्व के प्रमुख उद्योगपतियों में शामिल हैं, पटना की छोटी गलियों से निकल न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज तक पहुंचने वाले अग्रवाल को अपने बिहारी होने पर बेहद गर्व है. इनके नेतृत्व में समाजसेवी संस्थान वेदांत फाउंडेशन बाल विकास, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में विश्व स्तर पर बहुत से कार्य कर रही है. ये एक ऐसे उद्योगपति हैं जिन्होंने अपनी पारिवारिक सम्पत्ति का 75 प्रतिशत धन समाज विकास में लगाने का प्रण लिया है. सफल बिजनेस मैन के तौर पर इन्हें कई अवार्ड से सम्मानित किया गया है जिनमें इकोनॉमिक टाइम्स बिज़नेस लीडर अवार्ड -2012, माइनिंग जर्नल लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड 2009 दी एशियन अवार्ड्स इंटरप्रेन्योर ऑफ़ दी इयर अवार्ड -2016 प्रमुख हैं. दलाई लामा के विचारों से प्रभावित 62 वर्षीय अनिल अग्रवाल ने 17 वर्ष की आयु में ही परिवार की साधारण आय के कारण पिता के छोटे से कारोबार में सहयोग करना शुरू कर दिया था. लोहे के कबाड़ के बेहद साधारण कारोबार से व्यापार की शुरुआत कर आज मेंटल्स और माइनिंग के क्षेत्र में विश्व के सबसे बड़े व्यवसायियों में शुमार अनिल अग्रवाल नौजवान पीढ़ी के लिए प्रेरणा-स्रोत हैं.
कई विश्व स्तरीय कम्पनियों के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर अनिल अग्रवाल का सपना भारत में विश्व की सबसे बड़ी शिक्षण व अनुसन्धान संस्थान स्थापित करने का है. लम्बे संघर्ष से बड़े उद्योगपतियों में खुद को शुमार कर इन्होंने बिहारी होने के गर्व को दुनिया में स्थापित किया है औद्योगिक क्षेत्र में सफलता का इतना बड़ा उदाहरण पेश कर बिहार के लोगों की जीवंतता से देश दुनिया को परिचित ही नहीं करवाया बल्कि आने वाली पीढ़ी को ये पैगाम भी दिया है कि शुरुआत कैसी भी हो आत्मबल की मजबूती से दुनिया जीती जा सकती है. एशिया पोस्ट- फेम इंडिया सर्वे में दुनिया के बड़े उद्योगपतियों में शामिल अनिल अग्रवाल बिहार से ताल्लुक रखने वाले 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में प्रमुख पायदान पर हैं.