फेम इंडिया – एशिया पोस्ट सर्वे के 100 प्रभावशाली की सूची में प्रमुख स्थान पर हैं 1983 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी सुधीर प्रताप सिंह

1983 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी सुधीर प्रताप सिंह की गिनती देश के वरिष्ठतम अधिकारियों में की जाती है। उन्हें हाल ही में आतंकवाद निरोधी दस्ते (एनएसजी) का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। मूल रूप से सारण जिले के अमनौर गांव के निवासी आईपीएस सुधीर प्रताप सिंह राजस्थान कैडर के आईपीएस अधिकारी हैं और केंद्रीय मंत्री रहे भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी के भाई हैं। सुधीर प्रताप सिंह की छवि निष्पक्ष, तेज-तर्रार और समझदार पुलिस अधिकारी की है।

इससे पहले वे केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) में विशेष महानिदेशक के पद पर तैनात थे। उनका जन्म पटना में हुआ और शुरुआती शिक्षा सैनिक स्कूल तिलैया से हुई। बाद में दिल्ली विश्विद्यालय के हंसराज कॉलेज से उन्होंने स्नातक और स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की। उनके पिता स्व. विश्वनाथ प्रताप सिंह राज्य सरकार में कृषि विभाग के निदेशक के पद पर थे। सुधीर के बचपन में ही उनके पिता का निधन हो गया था। माता प्रभा सिंह ने सुधीर समेत पांच भाई- बहनों को उत्तम परिवेश और शिक्षा का प्रबंध किया। सिंह ने कई अहम पदों पर रहते हुए महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभायीं। वे सीबीआई, सीआईएसएफ, सीआरपीएफ जैसे विभागों में काम कर चुके हैं।अपनी राष्ट्रीय छवि, कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार, राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होंने बिहार का मान देश-दुनिया में बढ़ाया है। उपरोक्त पांच मानदंडों पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में (बिहार से आने वाले) देश के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हें प्रमुख स्थान पर पाया गया है। टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।