फेम इंडिया – एशिया पोस्ट सर्वे के 100 प्रभावशाली की सूची में प्रमुख स्थान पर हैं सिक्कम के मुख्य सचिव आलोक कुमार श्रीवास्तव

आलोक कुमार श्रीवास्तव भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी हैं। उन्हें अगस्त 2015 में पूर्वोत्तर राज्यों में से एक सिक्कम का मुख्य सचिव नियुक्त किया गया था। इससे पहले वे राज्य के चार जनपदों में से तीन के जिला विकास अधिकारी रह चुके हैं। उन्होंने दो जनपदों में जिलाधिकारी का पद पर भी काम किया। आलोक नई दिल्ली में सिक्किम राज्य के रजिडेंट कमिश्नर भी रह चुके हैं। उन्होंने साढ़े तीन वर्ष तक यह जिम्मेदारी बखूबी निभायी। उन्हें पर्यटन विभाग, उद्योग एंव वाणिज्य का आयुक्त सचिव भी बनाया जा चुका है। वे दिल्ली स्थिति मेघालय हाउस के व्यापार संवर्धन केंद्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं।

हाल ही में आलोक कुमार श्रीवास्तव ने राज्य के राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 10 पर वाहनों के मुक्त और सुरक्षित आवागमन को लेकर सुप्रीम कोर्ट मे याचिका दायर की थी जिसके बाद केंद्र सरकार ने वहां केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की चार कंपनियां भेजे जाने की बात कही। इसके अलावे उन्होंने सरकारी कार्यक्रमों में प्लास्टिक की बोतलबंद पानी पर भी पाबंदी लगा दी थी। श्रीवास्तव मानते हैं कि इन बोतलों से प्लास्टिक कचरे का अंबार लगता जा रहा है।

33 वर्ष के प्रशासनिक सेवा काल के दौरान उन्होंने राज्य और केंद्र में विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर काम करते हुए कई अहम जिम्मेदारियां निभायीं। उनकी गितनी देश के सबसे अनुभवी लोक प्रशासकों में की जाती है। कामकाज में एके श्रीवास्तव के नाम से मशहूर मूल रूप से बिहार के रहने वाले हैं। उनका जन्म 24 सितंबर 1959 को हुआ। वह 22 अगस्त 1984 को 25 वर्ष की आयु में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) में शामिल हुए। वह सिक्किम कैडर का हिस्सा हैं। उन्होंने नागरिक शास्त्र में पीएचडी की है।अपनी राष्ट्रीय छवि, कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार, राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होंने बिहार का मान देश-दुनिया में बढ़ाया है। उपरोक्त पांच मानदंडों पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में (बिहार से आने वाले) देश के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हें प्रमुख स्थान पर पाया गया है। टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।