केंद्र और राज्य सरकार के बीच तालमेल को बेहतर बनाया ऑफिसर विपिन कुमार ने

1996 बैच के आइएएस ऑफिसर विपिन कुमार उत्तर प्रदेश के रहनेवाले हैं। विपिन कुमार मालवीय नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जयपुर से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन में इंजीनियरिंग किए हुए हैं। वर्तमान में विपिन कुमार नई दिल्ली स्थित बिहार भवन में स्थानिक आयुक्त हैं। दिल्ली में बिहार भवन का मुख्य काम है, भारत सरकार के साथ लाइजनिंग के काम को देखना और राज्य से आए मानिंद व्यक्तियों के लिए गेस्ट हाउस फेसीलिटी देना और राज्य की स्थिति को केंद्र में सम्मानजनक बना के रखनां। नई दिल्ली स्थित विज्ञान भवन में शहरी विकास मंत्रालय द्वारा आयोजित ‘‘धरोहर नगर विकास एवम् अवधारण योजना‘‘ (हृदय) में ‘‘बिहार पर्यटन‘‘ विभाग भी हिस्सा लिया। इसमे  गया शहर को शहरी विकास मंत्रालय द्वारा नव चयनित हेरीटेज सिटी में शामिल किया गया। स्थानिक आयुक्त के तौर पर विपिन कुमार, अपनी मनोभवना व्यक्त किए, ‘किसी भी राज्य के लिए यह सम्मान गर्व की बात है’। शहरी विकास मंत्रालय द्वारा चयनित देश के कुल 12 नगरों में गया शहर को भी समायोजित किया गया है, जिसे विकसित किया जाना है। विपिन कुमार ने कहा कि बिहार के सांस्कृतिक नगर गया के विकास के लिए  प्रयास आरम्भ हो चुका है। विकास कार्य के लिए चुने गए धरोहरों में फल्गू नदी पर स्थित गया का विष्णुपद मन्दिर, शक्तिपीठ मंगला गौरी और पिता महेश्वर मन्दिर शामिल है। इसके अलावे ‘‘रामशिला‘‘ और ‘‘प्रेत शिला‘‘ जैसे दर्शनीय स्थल भी हैं। गया में देश-विदेश से हिन्दू धर्म के लोग अपने पूर्वजों के श्राद्ध  एवम् पिंडदान के लिए आते हैं। हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार इससे पूर्वजों को मोक्ष मिलता है। भारतीय अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-2015 में ‘‘बिहार मंडप‘‘ को स्वच्छ भारत के लिए ‘स्वर्ण पदक’ मिला।
प्रगति मैदान स्थित ‘शाकुंतलम थियेटर हॉल‘ में आयोजित पुरस्कार समारोह में राज्य की ओर से स्थानिक आयुक्त, बिहार विपिन कुमार ग्रहण किए।
वर्ष 2014 में भी बिहार मंडप को स्वर्ण पदक से नवाजा गया था। इस प्रकार बिहार मंडप को लगातार दूसरी बार स्वर्ण पदक मिला। बिहार मंडप की संरचना काफी आकर्षक रही। बिपिन कुमार के अनुसार बिहार के कुटीर उद्योग के कलाकारों एवम्  कला समूहों द्वारा बनाई गई कलाकृतियों का सही मूल्य मिले, विश्व विख्यात भागलपुरी सिल्क एवं मधुबनी पेंटिंग को बड़ा बाजार मिले इसके लिए इस तरह के आयोजन होते रहने चाहिए। राज्य सरकार की योजनाओं का केंद्र के साथ मिलकर सही विकास हो इसके लिए विपिन कुमार लगातार काम कर रहे हैं। राज्य और केंद्र सरकार के बीच सेतु की तरह काम कर रहे स्थानिक आयुक्त विपिन कुमार प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को भागलपुर की पहचान जर्दालु आम भेंट कर राज्य की समृद्ध आतिथ्य परंपरा का मान बढ़ाये। इस कार्य में कृषि विभाग समन्वयक की भूमिका निभा रहा है। इसमे सबसे खास बात ये है कि विपिन कुमार जब भागलपुर के डीएम थे तभी से भागलपुर से आम भेजने की परंपरा आरंभ हुई है।

फेम इंडिया मैगजीन-एशिया पोस्ट सर्वे के ‘असरदार आईएएस 2018’ के सर्वे में विभिन्न पैरामीटर में की गई रेटिंग में विपिन कुमार को प्रमुख स्थान पर पाया है।