केंद्रीय गृह सचिव की जिम्मेदारी निभा रहे आईएएस राजीव गाबा की कहानी

झारखंड कैडर के 1982 बैच के आईएएस अधिकारी राजीव गाबा फिलहाल केंद्रीय गृह सचिव की जिम्मेदारी निभा रहे हैं। उन्हें इसी वर्ष जून में इस पद पर नियुक्त किया गया है। वे अगले दो वर्षो तक इस महत्वपूर्ण पद पर रहेंगे। वे गृह मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव का पद भी संभाल चुके हैं। अपने पद पर रहते हुए उन्होंने नक्सल समस्या पर विशेष काम किया। इससे पहले गाबा शहरी विकास मंत्रालय में सचिव थे।

कुशल प्रशासक माने जाने वाले राजीव गाबा केंद्रीय एवं राज्य सरकारों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों में कई वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं। वे गृह, रक्षा, पर्यावरण, वन मंत्रालय और इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय में भी कई अहम पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। केंद्र सरकार में आने से पूर्व उन्होंने 15 महीनों तक झारखंड के मुख्य सचिव की हैसियत से भी काम किया था। वे राज्य के रेजिडेंट कमिश्नर भी रह चुके हैं।

राजीव गाबा की गिनती अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करने वाले गिने चुने अधिकारियों में की जाती है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) में 2001 से 2005 तक चार वर्षो तक भारत का प्रतिनिधित्व किया है। केंद्र सरकार द्वारा उन्हें गृह मंत्रालय के अधिकारी के तौर पर नोट, सिक्के और स्टाम्प की छपाई करने वाले मींटिंग कारपोरेशन ऑफ इंडिया के सुरक्षा बोर्ड का सदस्य बनाया गया। बताया जाता है कि आंतरिक सुरक्षा, जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर राज्यों में चरमपंथियों व मध्य एवं पूर्वी भारत में नक्सलवाद को खत्म करने के लिए विशेष रणनीति के तहत उन्हें गृह सचिव की जिम्मेदारी दी गयी है।

15 अगस्त 1959 को पंजाब में जन्मे गाबा के पिता बिहार में सरकारी अधिकारी थे। उन्होंने पटना विश्वविद्यालय से भौतिकी विज्ञान में स्नातक की पढ़ाई की है। पढ़ाई में श्रेष्ठता साबित करते हुए यहां उन्होंने गोल्ड मेडल हासिल किया।  उन्हें 1 सितंबर 1982 को भारतीय प्रशासनिक सेवा में शामिल किया गया। उनका कार्यकाल 31 अगस्त 2019 को पूरा होगा। बिहार का हिस्सा रहे झारखंड के अलग राज्य बनने से पहले गाबा ने 1984 से 1996 तक उन्होंने बिहार कैडर में काम किया था। यहां वे सात वर्षों तक नालंदा, गया और मुजफ्फरपुर जिलों में कलेक्टर और जिलाधिकारी का पद संभाल चुके हैं।अपनी राष्ट्रिय छवि,कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार,राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होने बिहार का मान देश दुनिया में बढाया है ,उपरोक्त पॉंच मानदंड पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में देश के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हे प्रमुख स्थान पर पाया गया है,  टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ.