पिता की विरासत को नये आसमान तक पहुंचाया है असीम बजाज ने

अक्सर देखने में आता है कि पिता अगर प्रतिभा और शोहरत से लबरेज हों तो संतान को उस स्तर तक पंहुचने में काफी वक्त लग जाता है, लेकिन मशहूर रंगकर्मी पद्मश्री रामगोपाल बजाज के पुत्र असीम प्रकाश बजाज ने इस धारणा को गलत साबित करते हुए अपना अलग ही मुकाम कायम किया है। वे अपने पिता से अलग एक मशहूर रंगकर्मी व निर्देशक के तौर पर अपनी पहचान स्थापित करने में कामयाब रहे हैं।
असीम प्रकाश बजाज का जन्म 1 जनवरी 1977 को बिहार के सुपौल स्थित निर्मली गांव में हुआ था। बचपन गांव में गुजरा और खेतों में हवाई जहाज की छाया के पीछे दौड़ते खेलते असीम ने नौ साल की उम्र में ही तय कर लिया था कि उसे फिल्मों में जाना है। दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिला मिला तो थियेटर से भी जुड़ाव हुआ। निर्माण कला मंच के बैनर तले फुटपाथ के बच्चों को लेकर कई मशहूर अंग्रेजी और हिन्दी नाटकों का मंचन किया। जस्मा ओढ़न, बकरी, कॉकेशियन चाक सर्किल, बिदेसिया आदि का प्रदर्शन किया। हालांकि पिता नैशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) के डायरेक्टर थे लेकिन वहां दाखिला नहीं लिया। एनएसडी में तीन महीने का एक वर्कशॉप करने का मौका मिला। दिल्ली के थियेटर सर्किल में ‘ऐक्ट वन’ ग्रुप के साथ सक्रियता से जुड़े। पर्दे के पीछे की कई विधाओं जैसे लाइटिंग, म्युजिक कंपोजिशन, निर्देशन आदि में महारत हासिल किया। फिर मुंबई का रुख किया और वहां एक नयी ही विधा कैमरा यानि सिनेमैटोग्राफी में अपनी प्रतिभा के झंडे गाड़े।
असीम बजाज को कैमरे की गहरी समझ है और उन्होंने  कई फिल्मों व ऐड कैंपेन में कमाल का फोटॉग्राफी निर्देशन किया है। उन्हें फोटॉग्राफी के लिये सिंगापुर में एशिया इमेज अवॉर्ड 2001 मिल चुका है। उन्हें सिनेमैटोग्राफी के लिये कई अवॉर्ड मिल चुके हैं जिनमें फिल्मफेयर, इंटरनैशनल इंडियन फिल्म अकादमी,  सांसुई व्युअर्स च्वॉइस अवॉर्ड, आदि मिल चुके हैं। वे स्वारोवस्की ट्रॉफी, जी सिने अवॉर्ड, हमबोल्ड्ट इंटरनैशनल फिल्म फेस्टिवल आदि में बेस्ट सिनेमैटोग्राफर का अवॉर्ड भी हासिल कर चुके हैं। वे कई अवॉर्ड समारोहों के ज्युरी सदस्य भी बन चुके हैं।
अपनी राष्ट्रीय छवि, कार्यक्षेत्र में सफलता, सामाजिक सरोकार, राज्य से जुड़ाव और देश में बड़ा प्रभाव बना कर इन्होंने बिहार का मान देश दुनिया में बढाया है। उपरोक्त पॉंच मानदंडों पर एशिया पोस्ट व फेम इंडिया मैगजीन द्वारा किये गये सर्वे में देश के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में इन्हें प्रमुख स्थान पर पाया गया है। टीम फेम इंडिया की तरफ से हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ।