अपराधियों के लिए शामत हैं बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी जयंत कांत

2009 बैच के बिहार कैडर के आईपीएस अधिकारी जयंत कांत लखनऊ के रहनेवाले हैं। रोहतास में ट्रेनिंग के बाद एएसपी और एसपी के तौर पर जयंत कांत की पोस्टिंग फतुआ(पटना) में हुई। फतुआ के बाद नवगछिया और उसके बाद पटना के एसपी बने। इनके कार्यशैली इतनी प्रभावशाली है कि मात्र 32 वर्ष के उम्र में ये पटना के एसपी(सिटी) बन गए,जो किसी भी आईपीएस अधिकारी का ड्रीम होता है। किसी भी राज्य की विधि-व्यवस्था का आकलन राज्य की राजधानी की स्थिति से लगाया जाता है। जिस समय जयंत कांत की पोस्टिंग पटना हुई थी आपराधिक गतिविधियां काफी ज्यादा बढ़ी हुई थी। सरकार ने नौजवान पुलिस अधिकारी में भरोसा जताते हुए कमान उनके हाथ में दे दी। राजधानी पटना के एसपी जयंत कांत के लिए ये कठिन परीक्षा की घड़ी थी। लेकिन तेज-तर्रार ऑफिसर ने आते ही अपराधियों पर नकेल कस दिए। पटना सिटी एसपी के बाद ये पटना ट्रैफिक एसपी भी रहे। पटना के बाद जयकांत बक्सर के एसपी बनें। वर्तमान में जयंत कांत की पोस्टिंग जमुई के एसपी के तौर पर की गई है। जमुई बुरी तरह नक्सल से प्रभावित इलाका है और नक्सलियों का गढ़ माना जाता है, लेकिन जयंत कांत जैसे बहादुर पुलिस ऑफिसर के आगे इनकी एक नहीं चल पा रही है।नक्सलियों में इनका कितना खौफ है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जयंत कांत को अब जमुई के लोग नक्सलियों के होश उड़ानेवाला डॉक्टर कहने लगे हैं। जयंत कांत को बतौर आईपीएस अधिकारी मिलनेवाले अवार्ड उनके अदम्य शौर्य को खुद बयान करते हैं। 2016 में गणतंत्र दिवस को जयंत कांत को गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित किया गया। पटना के सिटी एसपी के रुप में बेहतरीन काम के लिए डीजीपी द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया।नक्सल प्रभावित जमुई में अपराध नियंत्रण के लिए डीजीपी द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया। 2012 में छठ पूजा के दैरान हुए भगदड़ की स्थिति को अच्छी तरह संभालने के लिए डीजीपी द्वारा प्रशस्ति पत्र दिया गया। नक्सल प्रभावित जमुई में स्थित सामान्य बनाने के लिए किए गए बेहतरीन प्रयास के लिए दो बार सीआरपीएफ के डीजी द्वारा प्रशस्ति पत्र और अवार्ड दिया गया।सिर्फ यही नहीं  जयकांत नक्सल कमांडर चीराग दा को खत्म करने के लिए 30लाख के इनाम वाली टीम के सदस्य भी थे।

फेम इंडिया मैगजीन- एशिया पोस्ट के सर्वे 25 सर्वश्रेष्ठ सुपर कॉप्स 2017 (बिहार) में इन्हे अपराध नियंत्रण, ईमानदारी, कर्तव्य निष्ठा, मातहत से संबंध, जनता से संबंध, छवि और  कार्यकाल  इन सात मुद्दे पर किये गये सर्वे में उच्च रेटिंग मिली है .. टीम फेम इंडिया की बधाई और शुभकामनाएं।